You have an error in your SQL syntax; check the manual that corresponds to your MySQL server version for the right syntax to use near '' at line 1You have an error in your SQL syntax; check the manual that corresponds to your MySQL server version for the right syntax to use near '' at line 1 Kendriya Vidyalaya, Sec - 8, Rohini, Delhi
सी.बी.एस.ई. संबद्धता संख्या: २७०००३४
सी.बी.एस.ई. विद्यालय संख्या: ६५४५४
आयुक्त का संदेश| |हमसे संपर्क करें| |दाखिला विवरण| |पुराने छात्र| |फोटो गैलरी| |वर्तमान समाचार| |डाउनलोड| |निविदाएं |-
The Web Only this site
केन्द्रीय विद्यालय, सेक्टर 8, रोहिणी, दिल्ली

Kendriya Vidyalaya, Sec - 8, Rohini, Delhi

( An Autonomous Body Under MHRD )
Government Of India
विद्यालय में सह-पाठयक्रम गतिविधियों का विवरण          
CO-CURRICULAR ACTIVITIES IN THE VIDYALAYA
निश्चत रूप से कहा जाता है कि विद्यालय ही वह केन्द्र् है जहाँ छात्रो को उर्जावान जीवन और विभिन्न प्रकार के क्रियाकलापो को करने का अवसर प्रदान किया जाता है । हमारे विद्यालय मे सालभर विभिन्न पाठयसह्गामी क्रियाकलापो का आयोजन किया जाता रहा है ।

सामाजिक विज्ञान प्रर्दशनी में उपलब्धियाँ

कलस्टर स्तर पर : अंग्रेजी एवं हिंदी वाद-विवाद प्रतियोगिता में प्रथम स्थान, समूह गान में प्रथम स्थान
क्षेत्रीय स्तर पर: अंग्रेजी व् हिंदी वाद-विवाद प्रतियोगिता में क्रमश: प्रथम एवं द्वितीय स्थान


0

इन प्रतियोगिताओ मे ड्राइंग एव पेन्टिग, काव्य - पाठ, कविता - लेखन, राखी बनाना, रंगोली, वाद - विवाद, दिया सज्जा, निबन्ध लेखन, एकल गायन, समुह गायन, समुह न्रत्य आदी प्रमुख है, जिनमे छात्रो द्वारा बढ - चढकर हिस्सा लिया जाता है । सदन - प्रभारियो के कुशल नेतृत्व मे छात्रो का मौलिक प्रतिभाओ का विकास होता है ।

29वी युवा संसद में उपलब्धियां

क्षेत्रीय स्तर पर प्रथम स्थान एवं आंचलिक स्तर पर द्वितीय स्थान

इन प्रतियोगिताओ मे भाग लेकर छात्रो मे आत्मविश्वास की भावना विकसित होती है, जिससे वे और अधिक प्रतियोगिताओ मे भाग लेने हेतु प्ररित होते है । इन प्रतियोगिताओ मे भाग लेने पर उत्क्र्ष्ट प्रदर्शन करने वाले छात्र - छात्राओ को पुरस्कार भी दिया जाता है ।
निस्संदेह इन प्रतियोगिताओ मे भाग लेकर छात्रो मे सहयोग, समूह मे कार्ये करना, तथा स्वस्थ प्रतिस्पध्रा की भावना का विकास होता है साथ ही धेर्ये, आत्मानुशासन, सहयोग आदी गुण भी छात्रो मे विकसित होते है ।